हिन्दी साहित्य का नाथ सम्प्रदाय – डाॅ. मुकेश कुमार

नाथ परम्परा के प्रवर्तक गुरु गोरखनाथ जी माने जाते हैं। परन्तु गोरखनाथ का कुछ भी ऐतिहासिक वृत्त नहीं मिलता। न उनकी जन्मतिथि का पता, न उनकी मृत्यु का। जन्मस्थान का भी कोई अता-पता नहीं है। उनके नाम पर लिखे गये संस्कृत ग्रन्थ की प्रामाणिकता संदिग्ध है। डॉ. हजारी प्रसाद द्विवेदी के शब्दों में “शंकराचार्य के बाद …

हिन्दी साहित्य का नाथ सम्प्रदाय – डाॅ. मुकेश कुमार Read More »